Friday, 16 February 2018

Apple Product के Founder स्टीव जाब्स की सफलता की सच्ची कहानी

स्टीवन पाल" स्टीव जब्सि success story 

24 पत्स्यरी 1955 को केलिफोर्निया में जन्मे स्टीव जाब्स का जीक्म जन्म से हिं सघर्ष' पूर्ण था, उनक्री मां अक्विनांहित्त कालेज छात्रा थी और इसी कारण वे उन्हें स्खना नहीं चाहती थी, और स्टीव जाब्स को क्लिं अच्छे परिवार में गोद देने का फैसला का दिया लैक्लि जो गोद लेने वाले थे उन्होने' ये क्या मना का दिया क्री वे लड़की  को गोद लेना चाहते हैँ फिर स्टीव जाब्स क्रो केलिफोर्निया में रहने वाले पाल और कालरा जाब्स ने गोद ले लिया पाल और कालरा दोनो' ही ज्यादा पढे लिखै नहीँ थे और मध्यम वर्ग से ताल्लुक स्खत्ते थे जब स्टीव जाब्स 5 साल के हुए, तब उनका परिवार केलिफोर्निया के यास हिं स्थित माउटेन" व्यू क्ला क्या पाल मेकैनिक थे, और स्टीव को इलैवट्रानिक क्री चीजो के बारे में और कालरा एकाउटेट" थी इसलिए वे स्टीव क्री पढाई में मदद किया करती थी स्टीच ने मोटा३ लोमा स्तूल्ला में दाखिला लिया छोर बढीपऱ अपनी' प्राहुवृमिकृ शिक्षा परी की  

करती थी स्टीव ने मोटा' लोमा स्कूल में दाखिला लिया और वही पर अपनी प्राथमिक शिक्षा पूरी क्री
इसके बाद वे उच्च शिक्षा कूपटिनॉ जूनियर हाई स्कूल से पूरी क्री और सन 1972 में अपनी कालेज की पढाई के लिए ओरेगन के रीड काल में दाखिला लिया जो की वहां क्री सबसे महंगी' कालेज थी स्टीव पढने में बहुत ही ज्यग्वा अच्छे थे लेक्लि, उनके माता पिता पूरी फीस नहीँ भर पाते थे, इसलिए स्टीव नै फीस भरने के लिए बोतल के कोक क्रो बेचकर पैसे जुटाते, और पैसे क्री कमी के कारण मदिरौ" में जाका वडा मिलने वाले मुफ्त खाना खाया काते थे और अपने होस्टल का किराया बचाने के लिए अपने दोस्तों के कमरों में जमीन पर हि सो जत्या काते थे

इत्तनी बचत्त क्रे बाबजूद फीस के पैसे पुरे नहीँ जुटा पाते और अपने मात्ता-पिंता को कढी. मेहनत करता देख उन्होनै" कालेज छोडका उनक्ती मदद करने की सोची लेकिन उनके मातापिता उनसे सहमत नहीं थे I इसलिए अपने मातापिता के कहने पर कालेज में 
  
नहीं जाने के स्थान पर क्लीव क्लासेज (creative classes) जाना स्वीकार किया जल्दी ही उसमे स्टीव को रूचि बर्ड्स लगी क्लस्सेस जाने के साथ साथ वे अटारी नग्म की कपनी' में technician का काम काने लगे स्टीव आथ्याक्वि जीक्म में बहुत विश्वास करते थे, इसलिए स्टीव अपने धर्मं गुरु से मिलने भारत आए। और काफी समय भारत में गुजारा। भारत में रहने के दौरान उन्होनै' पूरी तरह बौद्ध धर्म क्रो अपना लिया और बौद्ध भिक्षु के जेसे कपर्ड पहनना गुरूर किया और पूरी तरह आथ्यातिमिक ही गये और भारत से वापिस कैलिफोर्निया. क्ले गए।

एप्पल कपनी' क्री शुरुआत
सन 1976 में मात्र 20 वर्ष की उम्र में उन्होर्न' एप्पल Apple कपनी" क्री दुरु-रआत कि स्टीव ने अपने स्कूल के सहपाठी मित्र वोजनियाक के साथ क्लि का अपने पिता के गैरेज में आपरेटिंग' सिस्टम मेक्लिटोश तैयार किया और इसै बेचने के लिए एप्पल कम्यूटर' का निर्माण काना चाहते थे लैक्लि पैसो की क्सी के 

उनके एक मित्र माइक मर्चुज्जला ने दूर कर दि साथ ही वे कपनी' में साझेदार भी बन गये और स्टीव ने एप्पल क्या' बनाने की शुरुआत क्री साथ हिं उन्होने' अपने साथ काम काने के लिए Pepsi, Coca Cola कपनी' के मुख्य अधिकारी जान स्कली क्रो भी शामिल कर लिया स्टीव और उनके मित्रो की क्खी मेहनत के कास्पा कुछ ही सालो में एप्पल कपनी' गैराज से ब्रह्मा 2 अरब डालर और 4000 कर्मचारियो क्ली कपनी' बन चुकी थी
successor story of apple founder stev job
successor story of apple founder stev job in hindi

एप्पल कपनी' से इस्तीफा
लैक्लि उनक्ती ये उफ्तब्धि ज्यादा देर तक नहीँ रही, उनके साझेदारी द्घारा उनको ना क्सद' किये जाने और आपस में कहासुनी के कास्पा एप्पल कपनी' की लोकप्रिक्ता कम होने लगी धीरे-धीरे कपनी' पूरी तरह कर्ज में डूब क्यो और बोर्ड आफ़ डग्यरेक्टर क्री मीटिग३ में सारे दोष स्टीव का ठहराक्ल सन 1985 में उन्हे' एप्पल कपनी' से बाहर कर दिया ये उनके जीक्म का सबसे दुखद फ्त था क्योकि क्सि कपनी' क्रो 

उन्होने" क्खी. मेहनत और लग्न से बनत्या था क्सी से उन्हे' निकाल दिया क्या था स्टीव के जाते ही कपनी" पूरी तरह कर्ज में डूब गयी एप्पल से इस्तीफा देने के 5 साल बाद उन्होनै" Next-ink नग्म की और Pixer नाम क्री दो कषनियो' क्री दुश्र्वआत्त क्री
N आंi n k में उक्योग की जाने क्ली तक्लीक उत्तम थी और उनका उदेश्य बेहतरीन साफ्टवेर७ बनस्ना था और Pixer कपनी' में animation का काम होता था 1 एक साल तक काम करने के बाद पैसो क्री समस्या आने लगी और Rash Perot के साथ साझेदारी का ली और पेरीट ने अपने पैसो का निवेश किया सन 1990 में Nexti n k ने पहला कप्यूदृर' बाजार. में उतारा लेकिन बहुत ही ज्यादा मह्या होने के कारण बाजार में नहीँ क्त सका किं Nextink ने Inter Personal computer बनत्या जो बहुत ही ज्यादा लोक प्रिय हुआ और Pixer ने एनिमेटेड फिल्म Toy story बनायी' जो अब तक क्री सबसे बेहतरीन फिल्म हैँ I

chief executive emcer
क्म गये। स्म 1997 में उनकी मेहनत के कारण कपनी' का मुनाफा बढ़ गया और वे एप्पल के सीइओ. क्म गये सन 1998 में उम्हीने' आईपेक … mac को बाजा में लान्च" किया, जो काफी लोकप्रिय हुआ और एप्पल नै बहुत ही बडी सफ़लता हासिल का ली उसके बाद l-Pad, phone, I-tune भी त्नमृ'न्चझा किये I स्म 2011 में सी.दृ. . षद सै इस्तीफा दे दिया और बोर्ड के अध्यक्ष बन गरी उस वक्त उनकी प्राम्रटीं७ $7.0 बिलियन हो गयी थी और a mule दुनिया की दूसरी सबसे बडी कपनी' बन गयी थी

निधन
स्टीव को स्म 2 003 से Pain creative नाम की केसर. की बिमारी हो गयी थी लेक्लि फिर भी वे रीज कपनी' में जाते ताकि लोगो क्रो बेहतरीन रने बेहतरीन टेक्नोलाजी" प्रदान का सके और कैसर३ की बिमारी के चलते 5 Oct. 2011 को Paalo Aalto केलिफोर्निया में उनका निधन हो क्या I
एप्पल कपनी' में वाक्सी
सन 1996 में एप्पल ने स्टीव क्री Pi xer को खरीदा इस तरह उनके एप्पल में वाक्सी हुई साथ ही वे एप्पल के chief executive officer बन गये | स्म 1997 में उनकी मेहनत के कास्पा कपनी' का मुनाफा बढ क्या और वे एप्पल के सीइओ. क्म गरी सन 1998 में उन्होनै' आईपेक I mac क्रो बाजार. में लान्च" किया, जो काफी लोकप्रिय हुआ और एप्पल ने बडुत्त ही बडी. सफ्तत्ता हासिल का ली l उसके बाद ५०८८।, lphone, I-tune भी WV किये | स्म 2011 में dig. आं. पद से क्खीफा दे दिया और बोर्ड के अध्यक्ष बन गये उस वक्त उनक्ती प्रापर्टी" $7.0 बिलियन हो गयी थी और a क्या। e दुनिया क्री दूसरी सर्क्स बडी, कषनी३ बन गयी थी 

ऐसी थी स्टीव की सफलताकी कहानी इस कहानी से आप भी कुछ सीखे होंगे ऐसी में आसा करता हु तो दोसो और भी ऐसी सफलता की कहानी लेकर आवूंगा जिसे आपको अच्छी डिसा मिले और जीवन में सफलता प्राप्त कर सको तो मेरे ब्लॉग को Regular पड़ते रहे और Share करे अपने दोस्तों और Facebook पर जय हिन्द 

No comments:

Post a Comment